Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Archive for जुलाई, 2007

 

 समाचार चैनल एनडीटीवी इंडि‍या ने आज से एक धारावाहि‍क शुरू कि‍या है, बांबे लायर्स। इस धारावाहि‍क का प्रोमो इस चैनल पर कई दि‍नों से चल रहा था। कि‍सी समाचार चैनल पर धारावाहि‍क की बात सुनकर अजीब तो लगा। लेकि‍न कार्यक्रम बहुत सार्थक लगा।

    आज जब समाचारों के नाम पर शुरू हुए चैनलों में समाचार के अलावा भूत प्रेत, सेक्‍स स्‍कैंडल, कि‍क्रेट, नाग नागि‍न, तंत्र मंत्र ही नजर आता है, वैसे समय में एनडीटीवी भीड़ से अलग नजर आता है। बांबे लायर्स एक अलहदा तरीके से यथास्‍थि‍ति‍वाद के खि‍लाफ हस्‍तक्षेप करता नजर आया।

  ‍बांबे लायर्स एक ऐसी कानूनी फर्म की कहानी है जो महि‍लाओं के खि‍लाफ होने वाले अत्‍याचारों के खि‍लाफ मजबूती से खड़ी नजर आती है। मुख्‍य वकील अपर्णा राय के रूप में मीता वशि‍ष्‍ठ का अभि‍नय लाजवाब रहा। वैसे भी मीता मेरी पसंदीदा अभि‍नेत्री रही हैं। एनएसडी दि‍ल्‍ली में उनके कई नाटक देखने का मौका मि‍ला है। वह लाजवाब अभि‍नेत्री हैं।

   बांर्ब लायर्स को देख कर अगर दूसरे चैनल भी कुछ सबक ले सकें तो अच्‍छा हो। लेकि‍न ऐसा होने की उम्‍मीद कम ही है। हां अगर इस कार्यक्रम का टीआरपी अच्‍छी मि‍ल गयी तो शायद वहां भी दि‍न बहुरें। चैनल का दावा है कि‍ यह धारावाहि‍क सच्‍ची घटनाओं पर आधारि‍त है। अगर वाकई ऐसा है तो यह खबरों को पेश करने का अलग अंदाज है जि‍सकी सराहना की जानी चाहि‍ये।  

Advertisements

Read Full Post »