Feeds:
पोस्ट
टिप्पणियाँ

Archive for the ‘अपनी गली’ Category

यारों चिट्ठाकारी की दुनिया में आने से खुद को रोक नहीं सका। सोचा मैं भी आज जाऊं। मेरे चिट्ठे पर दुनिया जहान की बाते होंगी। साहित्‍य एवं राजनीति की चर्चा भी होगी। अभी नया नया हूं। काफी कुछ सीख रहा हूं। थोड़े दिनों में यह चिट्ठा मुकम्‍मल आकार ले लेगा। लेकिन शुरूआत तो कर दी है। अपने चिट्ठे पर ज्‍यादा कुछ नहीं तो दूसरों के चिट्ठों पर कूदफांद ही सही पर अपन लिखेंगे जरूर।

Read Full Post »